किधर जाएँ

किधर जाएँ | ग़ज़ल | विकास नैनवाल 'अंजान'

यूँ ही ऑफिस में बैठकर कुछ पंक्तियाँ मन में उभरी थी तो उन्हें गूगल ड्राइव के दस्तावेज में नोट कर दिया था। कुछ भी पुख्ता नहीं बन पाया था। यह पिछले शुक्रवार की बात है। यानी 12/10/18 की। फिर इस सोमवार यानी  15/10/18 को सुबह कुछ लिखने का मन हुआ। गूगल ड्राइव के दस्तावेज पर इसे देखा तो  पंक्तियाँ जुड़ती गई और कुछ बन गया। उसे व्हाट्सएप्प समूह में साझा किया तो राशिद भाई ने कुछ सलाह दी और उस पर अमल करके आखिर में यह बनकर आया। 

एक रचना के पीछे न जाने ऐसे ही कितने बार खुद के लिखे को कांटना छाँटना पड़ता है। दोस्तों की सलाह को मानना या न मानना पड़ता है। यानी मेहनत होती है। एक बार में आईडिया तो आता है लेकिन उसे माँझना भी पड़ता है। यही माँझना लगातार चलता है। हो सकता है कुछ सालों बाद इस लिखे हुए को देखूँगा और सोचूंगा कि इसमें और बदलाव हो सकते थे। 

आदमी संतुष्ट कहाँ हो पाता है। जिस दिन आदमी संतुष्ट हो गया उस दिन शायद वह कुछ रचना भी  बंद कर देगा। यह उथल पुथल मन में होती रहनी चाहिए। तभी कुछ बन सकता है। खैर, उस वक्त की उस वक्त देखेंगे। फिलहाल आप इसे ही पढ़िए। 

ये शोर शराबा, ये रोज की कायें कायें,
इन्हे छोड़ कर हम किधर  जाएँ,

दौड़ती भागती सी ज़िन्दगी में मिले जो सुकून,
हो गर पता तो हम उधर जाएँ,

मैं तन्हा हूँ,करता हूँ इन्तजार तेरा,,
वो दुनिया बता हम तुझे जिधर पाएँ,

उम्र गुजार दी ‘अंजान’ भागने दौड़ने में इतनी,
अब चाहत है थोड़ा ठहराव इधर लाएँ

© विकास नैनवाल ‘अंजान’

About विकास नैनवाल 'अंजान'

मैं एक लेखक और अनुवादक हूँ। फिलहाल हरियाणा के गुरुग्राम में रहत हूँ। मैं अधिकतर हिंदी में लिखता हूँ और अंग्रेजी पुस्तकों का हिंदी अनुवाद भी करता हूँ। मेरी पहली कहानी 'कुर्सीधार' उत्तरांचल पत्रिका में 2018 में प्रकाशित हुई थी। मैं मूलतः उत्तराखंड के पौड़ी नाम के कस्बे के रहने वाला हूँ। दुईबात इंटरनेट में मौजूद मेरा एक अपना छोटा सा कोना है जहाँ आप मेरी रचनाओं को पढ़ सकते हैं और मेरी प्रकाशित होने वाली रचनाओं के विषय में जान सकते हैं।

View all posts by विकास नैनवाल 'अंजान' →

0 Comments on “किधर जाएँ”

  1. Wonderful.
    बहुत खुब विकास जी ।
    क्या खूब उकेरा है मनःस्थिति को शब्दों में ।

  2. इस उथल पुथल की जिंदगी में सुकून की बात न कर फराज
    कुछ तूने कुछ मैंने ही इस ठहराव को ख़त्म किया है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *