मोबाइल ओप्टीमाईजेशन और ब्लॉग के लिए उसका महत्व

तकनीक से संबंधित लेख
ज के जमाने में इन्टरनेट पर सक्रिय रहने का सबसे पसंदीदा माध्यम मोबाइल फोन ही है। कभी डेस्कटॉप और लैपटॉप इन्टरनेट के उपयोग का सबसे पसंदीदा माध्यम होता था लेकिन अब ऐसा नहीं है। आज ज्यादातर लोगों के पास स्मार्ट फोन है और वो अपने मोबाइल फोन से ही इन्टरनेट सुविधा का उपयोग करते हैं। संगीत  सुनना हो, विडियो देखना हो या चीजें पढ़ना हो सभी गतिविधियों के लिए मोबाइल ही आजकल सबकी पहली पसंद है।

अगर ब्लॉग की बात भी करें तो ब्लॉग भी ज्यादातर लोग मोबाइल फोन से ही पढ़ना पसंद करते हैं। मैं यह इसलिए कह सकता हूँ क्योंकि मैं खुद का ब्लॉग चलाता हूँ और मेरे ब्लॉग में लगभग सत्तर प्रतिशत से ऊपर ट्रैफिक मोबाइल फोन के माध्यम से ही आता है। अगर आप भी ब्लॉग चलाते हैं तो आपके लिए भी यह बात लागू होगी।

मेरे ब्लॉग का व्यू चार्ट(लगभग ७० प्रतिशत से ऊपर मोबाइल व्यूवर्स हैं)

ऐसे में एक ब्लॉगर होने के नाते मेरी और आपकी  भी यह जिम्मेदारी बनती है कि हम अपने पाठको को सामग्री इस तरह से दें कि उन्हें वह अपने मोबाइल फोन में पढ़े जाने में आसानी हो। यह काम हम ब्लॉग को मोबाइल के लिए ऑप्टिमाइज़ करके कर सकते हैं।


अब सबसे पहले प्रश्न उठता है कि मोबाइल ऑप्टीमाइज़्ड साइट्स क्या होती हैं?
सीधे साधारण शब्दों में कहें तो कोई साईट तब मोबाइल ऑप्टिमाइज़ कहलाती है जब उसमें मौजूद टेक्स्ट मोबाइल फोन की लम्बाई चौड़ाई के हिसाब से खुद को ढाल देता है। यानी न तो आपको पढ़ने के लिए टेक्स्ट को ज़ूम करना होता या उसे छोटा करना होता। एक मोबाइल ऑप्टीमाइज़्ड साईट आपके मोबाइल फोन के हिसाब से अपने टेक्स्ट को बदल देती है जिससे साईट में मौजूद सामग्री की पठनीयता बढ़ जाती है।

अगर साईट मोबाइल ऑप्टीमाइज़्ड  नहीं होती है तो फोन पर भी वह डेस्कटॉप की तरह दिखता है जो कि मोबाइल पर पढ़ने के लिए अनुकूल नहीं होता है। उन पर लिखी गयी सामग्री को पढ़ना टेढ़ी खीर होता है। आपको उंगलियों के सहारे टेक्स्ट को बड़ा करना होता और फिर दायें बायें स्क्रॉल करके उसे पढ़ना होता है। यह बहुत ही माथा पच्ची का काम है और ज्यादातर लोग इसे करना पसंद नहीं करते हैं।

बाएँ तरफ ऑप्टीमाइज़्ड होम स्क्रीन, दायें तरफ बिना ऑप्टिमाइजेशन के साईट

बाएँ तरफ मोबाइल ऑप्टीमाइज़्ड पोस्ट जिसमें टेक्स्ट पूरी स्क्रीन में आ रहा है और दायीं तरफ वही पोस्ट बिना ऑप्टिमाइजेशन के 

ऊपर मैंने ऑप्टीमाइज़्ड और अनऑप्टीमाइज़्ड साईट के उदाहरण दिए हैं। आप दोनों में फर्क देख सकते हैं। जहाँ तक मेरा सवाल है मैं तो ऑप्टीमाइज़्ड वर्शन ही पढ़ना चाहूँगा। आप क्या पढ़ना चाहेंगे?

चूँकि मैं गूगल के उत्पाद blogger का इस्तेमाल करता हूँ तो इस लेख में उसी की बात करूँगा।  इस लेख में ब्लॉग का मतलब blogger में मौजूद ब्लॉग ही होगा। अब अगर आपका ब्लॉग भी blogger पर है तो  आप अपने ब्लॉग को जाकर चेक कीजिये और देखिये आपका ब्लॉग किस श्रेणी में आता है।

अगर आपका ब्लॉग अनऑप्टीमाइज़्ड है और आपको इसे ऑप्टिमाइज़ करना है तो इसे बड़ी आसानी से किया जा सकता है।  ब्लॉगर इस्तेमाल करने वाले लोग अपने ब्लॉग पर मोबाइल थीम सक्रिय करके अपने ब्लॉग  को मोबाइल ऑप्टीमाइज़्ड बना सकते हैं। ऐसा करने से आपका ब्लॉग मोबाइल फ्रेंडली हो जायेगा और आपके पाठको को एक बेहतर अनुभव प्राप्त होगा।

ब्लॉगर में मोबाइल थीम कैसे सक्रिय करें?
हम यह तो जान ही चुके हैं कि आज के वक्त में ब्लॉग का मोबाइल डिवाइस के लिए ऑप्टिमाइज़ होना कितना जरूरी है।  हम यह भी समझ चुके हैं कि blogger पर बने ब्लॉग को ऑप्टिमाइज़ करने के लिए आपको केवल मोबाइल थीम को सक्रिय करना होता है। अब सवाल उठता  है कि आप मोबाइल थीम को कैसे सक्रिय करेंगे?

तो आपको बता दूँ कि यह बेहद आसान काम है। आप निम्न तरीके से यह काम कर सकते हैं:

1.सबसे पहले तो आप अपने ब्लॉगर डैश बोर्ड में जाएँ। उधर जाकर आप थीम पर क्लिक करेंगे तो आपके सामने थीम खुल जायेगा।
2. अब आपको डेस्कटॉप थीम और मोबाइल थीम दोनों दिखाई देंगे। आप मोबाइल थीम के नीचे बने गियर जैसे निशान पर क्लिक करेंगे तो आपके सामने  एक पॉपअप बॉक्स खुल जायेगा।
3. अब आपके सामने दो विकल्प दिखाई दे रहे होंगे। आपको बस मोबाइल थीम लागू करने वाला विकल्प चुनना है और अपनी थीम सेटिंग को सेव करके सक्रिय करना है। आप अपने मोबाइल पर थीम किस तरह की लगाना चाहते हैं यह भी आप इधर चुन सकते हैं। मैंने सामान्य थीम ही रखी है क्योंकि मुझे ज्यादा फैंसी चीजें पसंद नहीं है लेकिन आप अपनी पसंद के हिसाब से थीम चुन सकते हैं। थीम मोबाइल पर कैसी दिखेगी यह भी आपको पॉप अप में दिखाई देता है। बस सेटिंग को सेव करके ही आपके ब्लॉग पर मोबाइल थीम सक्रिय हो जाएगी।

है न आसान!! लेकिन फिर भी कई लोगों ने यह सक्रिय नहीं किया होता है।

अब आप अपने मोबाइल पर अपने ब्लॉग का एड्रेस डालकर अपने ब्लॉग पर आये बदलाव को देख सकते है।

डैशबोर्ड में जाकर मोबाइल थीम के नीचे बने गियर(लाल गोले से इंगित) को क्लिक करें 
मोबाइल पर मोबाइल थीम दिखाने के विकल्प को चुनिए। अपनी पसंद की थीम चुनें और सेटिंग सेव करें।

उम्मीद है यह जानकारी आपके काम आएगी। अगर ब्लॉगिंग से जुड़ी कोई भी दिक्कत या शंका आपके मन में है तो आप इसके लिए मुझे मेल भी कर सकते हैं। मेरा मेल आई डी है:
nainwal.vikas@gmail.com

मैं यथासम्भव उत्तर देने की कोशिश करूँगा।

ब्लॉगर से जुड़े  मेरे दूसरे लेख आप निम्न लिंक पर जाकर पढ़ सकते हैं:
ब्लॉगर

©विकास नैनवाल ‘अंजान’

About विकास नैनवाल 'अंजान'

मैं एक लेखक और अनुवादक हूँ। फिलहाल हरियाणा के गुरुग्राम में रहत हूँ। मैं अधिकतर हिंदी में लिखता हूँ और अंग्रेजी पुस्तकों का हिंदी अनुवाद भी करता हूँ। मेरी पहली कहानी 'कुर्सीधार' उत्तरांचल पत्रिका में 2018 में प्रकाशित हुई थी। मैं मूलतः उत्तराखंड के पौड़ी नाम के कस्बे के रहने वाला हूँ। दुईबात इंटरनेट में मौजूद मेरा एक अपना छोटा सा कोना है जहाँ आप मेरी रचनाओं को पढ़ सकते हैं और मेरी प्रकाशित होने वाली रचनाओं के विषय में जान सकते हैं।

View all posts by विकास नैनवाल 'अंजान' →

9 Comments on “मोबाइल ओप्टीमाईजेशन और ब्लॉग के लिए उसका महत्व”

  1. बहुत उपयोगी जानकारी दी हैं आपने, विकास भाई। यह निश्चिंत ही ब्लॉगर्स को काम आएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *