वो चीजें जिनकी शक्ल पसंद आने के कारण मैंने उन्हें काफी टाइम तक नहीं खाया

वो चीजें जिनकी शक्ल पसंद आने के कारण मैंने उन्हें काफी टाइम तक नहीं खाया

मुझे व्यक्तिगत तौर पर लगता है चीजों का स्वादिष्ट होने के साथ साथ अच्छा दिखना भी जरूरी होता है। कई बार चीजें होती तो अच्छी हैं लेकिन वो दिखती ऐसी …

वो चीजें जिनकी शक्ल पसंद आने के कारण मैंने उन्हें काफी टाइम तक नहीं खाया Read More

रोटी, पराठे और बचपन

भारतीय घरों की बात की जाए तो खाने में रोटी का एक महत्वपूर्ण स्थान है। नाश्ता हो, दिन का खाना या फिर रात का खाना। अधिकतर घरों में रोटी बनने …

रोटी, पराठे और बचपन Read More
कैसे कैसे विज्ञापन

कैसे कैसे विज्ञापन??

आजकल टीवी देखना बहुत कम  हो गया है। अब मुश्किल से आधा घंटा ही टीवी देखता हूँ और इस कारण विज्ञापन कैसे हो चले हैं उनसे काफी कम परिचित हूँ। …

कैसे कैसे विज्ञापन?? Read More
किताबी बातें

गोविंद कहरा के बहाने

बचपन में हम सभी के बीच गोविंद कहरा जैसा दोस्त होता है। (अब आप पूछेंगे गोविंद कहरा कौन? तो इसके लिए आपको उदय प्रकाश जी की कहानी हत्या पढ़नी होगी।) …

गोविंद कहरा के बहाने Read More

मैं ऐसी दुनिया में रहना चाहती हूँ जहाँ कोई गुरमेहर कौर अपने पिता की याद में ना रोये

मैं ऐसी दुनिया में रहना चाहती हूँ जहाँ कोई गुरमेहर कौर अपने पिता की याद में ना रोये पिछले कई दिनों से डेल्ही यूनिवर्सिटी की एक छात्रा गुरमेहेर कौर की …

मैं ऐसी दुनिया में रहना चाहती हूँ जहाँ कोई गुरमेहर कौर अपने पिता की याद में ना रोये Read More
Whodunit?- a documentary on hindi pulp fiction

Whodunit?- a documentary on hindi pulp fiction

हु डन इट का अगर अनुवाद करें तो तो इसका मतलब होगा ‘किसने किया’ और जो काफी हद तक सही भी होगा। हु डन इट जासूसी साहित्य का एक सब …

Whodunit?- a documentary on hindi pulp fiction Read More